0
0.00
  • An empty cart

    You have no item in your shopping cart

सुगम चिकित्सा -२

सुगम चिकित्सा -२

सुगम चिकित्सा भाग 2 – कोरोना महामारी  मे महासुदर्शन चूर्ण का प्रयोग लाभदायक

  बड़ी बार कई भक्तों ने मुझे अपने तजुर्बे और औषधियों के बारे में लिखने के लिए प्रार्थना की, उस समय मेरे कई सेवको में से तर्क दृष्टि भक्तों ने मुझसे कई सवाल भी किए ,जब मैंने उनसे हां कहां कि हां मैं लिखूंगा उस समय उनके सवालों का विशेष रूप से जवाब ना दे कर मैंने कहा था कि यदि समय मिला तो इसकी भूमिका में आपके उपयुक्त सवालों का जवाब विस्तार से दूंगा। 

 अब यह समय मेरे लिए आ पहुंचा है। देश को कोरोना महामारी में  घुटता देखकर सहन ना हुआ तो आज लिखने बैठ गया। मुझे मेरे बेटे डॉक्टर मानव बत्रा एवं पुत्रवधू लक्षिता बत्रा ने आकर प्रार्थना की  की अपने ज्ञान का प्रकाश लोगों को लिखकर बताएं

कहने लगे जैसे कोरोना महामारी के लिए आपने महासुदर्शन चूर्णरोगियों को बताया है लेने के लिए ,उससे जितने भी मरीज पॉजिटिव है वह 5 या 10 दिन इस चूर्ण के  काढ़ा को पी कर नेगेटिव हो रहे हैं और स्वस्थ हो रहे हैं । दूसरा जो बिना इस बीमारी से ग्रसित पी रहा है वह किसी के संपर्क में आने पर भी स्वस्थ रहता है और कोरोना से अपना बचाव कर पा रहा। 

इसलिए अब आम जनमानस के लिए  यह लाइने अपने जीते जी लिख जाऊं ताकि वह किसी एक  की प्रॉपर्टी ना रहे। सब अस्वस्थ एवं स्वास्थ्य इसका लाभ उठा सकें।

अंततः आज का विषय आयुर्वेद के उद्देश्य से समाप्त कर रहा हूं।

  प्रयोजनम चास्य स्वास्थ्यस्वास्थ्य रक्षणम  

आतुरस्य विकारप्रशमनम  च ।। (चरक संहिता, सूत्र स्थान)

आयुर्वेद के दो उद्देश्य हैं:

  1.  स्वस्थ व्यक्तियों के स्वास्थ्य की रक्षा करना,
  2.  रोगी( आतुर) व्यक्तियों के विकारों को दूर कर उन्हें स्वस्थ बनाना। 

There are 25 comments

  1. RAVi Mehta 2 years ago

    Prevent is better than cure.
    लाजवाब प्रोडक्स,

  2. Puneet 2 years ago

    Uttam Ayurveda ka har product bhut jabardast hai.. Jab se maine apne bete ko Uttam Ayurveda k products diye hai use English medicine ki jarurat nhi padi.. Ak baar to uski chest block ho gi thi to Dr n admit k liye bola ..to Mai Dr Manav se mila to Unhone Mujhe joshanda k baare mai btaya jo maine use ak baar diya or wo thik ho gya. Thanks to Dr Manav …….

  3. Balram 2 years ago

    जी गुरु जी सादर प्रणाम यह महासुदर्शन चूर्ण औषधी ही नहीं यह तो जादू है । आपके बताने के बाद मैंने सैकड़ों लोगों को बताया है और सभी ने खूब लाभ भी लिया है और सौभाग्य की बात है कि अभी हमारा पूरा परिवार भी इसी महासुदर्शन चूर्ण ले रहा है और मौसम परिवर्तन के समय प्राय सभी को अवश्य ले ना चाहिए हैं आपका बहुत-बहुत आभार

  4. POONAM SINHA 2 years ago

    PARNAM GURUJI
    Hum sab yahi wait ker rahe the ki aap kab corona per dawai batayeng…aaj weh din aa gaya aapke bahut shukrana..shukriya GURUJI

  5. Dheerja 2 years ago

    Thank you so much guru ji….bas apka ashirwad bna rahe…🙏🙏🙏🙏

  6. Amit Gupta 2 years ago

    Nice

  7. Deepak Gandhi 2 years ago

    Jai Guru Ji
    Aap ke hath se de Gaye medicine Sanjeevani hai ham logo ki leye aap ka dhanyawad Jo aap ne yeh kirpa ki es bahane se aap ke darshan ho gaye Shukrana Guru Ji apni sangat par kirpa kare
    Jai Guru Ji

  8. Isha Bhandari khera 2 years ago

    Namaste mama ji,
    Aap hum sab aur bahut logo ko jivan daan de rahe hai apna aashirwad sada sab par aise hi banaye rakhein…..

  9. Dr pawan kumar arora 2 years ago

    जय बाबा रामदास जी गिरी एवम पीर बाबा की
    इसमे कोई शक नही की वैध देविंदर बत्रा जी मेरे गुरुजी है एवम हर शिष्य लगभग अपने गुरु के गुणों का बखान करता ही है।
    लेकिन मैं स्वयं भी एक भक्त के साथ तार्किक भी हूं।
    यूं तो इतने अनुभव है कि लिखे भी नही जा सकते लेकिन फिलहाल मैं इस कोरोना काल के अपने अनुभव के बारे में लिखने जा रहा हूं।
    पिछले कुछ दिनों पहले मैं अपने एक मित्र के संपर्क में आया जो कि covid positive आया था। मैने वैध देविंदर बत्रा जी से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि आप 5 दिन के लिए home quarntine हो जावे और महासुदर्शन चूर्ण का काढ़ा दिन में 3 बार लेवे एवम सरसो के तेल में 5 पीपल के कोमल पत्ते साड़ कर उसका तेल बनावे ।उस तेल के दास ने गरारे किये और नाक के अंदर सुबह शाम लगाया ।बॉडी पर भी सैनिटाइजर की जगह उसी तेल को लगाया।
    5 दिन बाद हम दोनों (पति , पत्नी ) ने अपना covid टेस्ट करवाया और रिपोर्ट नेगेटिव आयी।
    इसको prophlyxis treatment की तरह प्रयोग किया जाना चाहिए।
    धन्यवाद

  10. Rajiv Alagh 2 years ago

    जय बाबा राम दास जी गिरी काली कमली वाले जी की ।यह बात तो सच है वैद्य देवेंद्र बत्रा जी हमारे गुरुजी है इनके साथ मेरे पिताजी श्री श्याम सुंदर जी 50 साल से उनके साथ है गुरु जी का हाथ हम पर और हमारे पूरे परिवार पर हमेशा बना हुआ है मैं भी अपना अनुभव आपके साथ शेयर करना चाहता हूं।
    मेरी पत्नी को पिछले साल टाइफाइड हो गया था मैं हॉस्पिटल गया तो डॉक्टरों ने कहा कि इनको एडमिट करना पड़ेगा। और एक से डेढ़ महीना हॉस्पिटल में रहना पड़ेगा। मैं उनको वापस घर ले आया और गुरु जी द्वारा बताए गए महासुदर्शन चूर्ण को मैंने दिन में तीन बार ही दिया उसको लगातार मैं 20 से 25 दिन दिन देता रहा तीसरे से चौथे दिन जो इतना बुखार मेरी पत्नी को था वह अपने आप कम होता चला गया
    टाइफाइड में सभी डॉक्टर ने भी बोला था कि इनको 1 साल तक बहुत कमजोरी रहेगी पर गुरु जी की दवाई महासुदर्शन चूर्ण लेने के बाद मेरी पत्नी एक से सवा महीने में बिल्कुल ठीक हो गई थी
    धन्यवाद

  11. Rajiv Alagh 2 years ago

    जय बाबा राम दास जी गिरी काली कमली वाले जी की। यह बात तो सच है वैद्य देवेंद्र बत्रा जी जो हमारे गुरुजी है जिन साथ मेरे पिताजी श्री श्याम सुंदर जी पिछले 50 साल सेवा में हैं मैं भी हूं गुरुजी का सेवक अपना एक अनुभव आपके साथ शेयर करना चाहता ।
    पिछले साल मेरी पत्नी को टाइफाइड हो गया था मैं मैक्स हॉस्पिटल गया तो उन डॉक्टरों ने बोला कि इनको एडमिट करना पड़ेगा कम से कम 30 दिन के लिए। मैं अपनी पत्नी को घर वापस ले आया और गुरु जी द्वारा बताए गए महासुदर्शन चूर्ण अपनी पत्नी को दिन में तीन बारी दिया मैंने यह महासुदर्शन चूर्ण 20 से 25 दिन लगातार उन्हें दिया उनको तीसरे से चौथे दिन ही आराम आना शुरू हो गया बुखार जो इतना तेज होता था वह अपने आप कम होता चला गया
    डॉक्टर ने बोला था कि 1 साल तक कमजोरी रहेगी पर ही इनकी दवाई लेने के बाद मेरी पत्नी एक से सवा महीने में बिल्कुल ठीक हो गई और कोई कमजोरी नहीं रही।
    धन्यवाद

  12. cinayet süsü izle 2 years ago

    I loved your article. Much thanks again. Really Great. Essa Duky Janka

  13. erotik izle 2 years ago

    No matter if some one searches for his vital thing, so he/she desires to be available that in detail, therefore that thing is maintained over here. Dolorita Nicol Eldred

  14. movies 2 years ago

    I am really loving the theme/design of your weblog. Felicity Costa Gavette

  15. movies 2 years ago

    Very nice article. I absolutely love this site. Thanks! Theodosia Keary Pentheas

  16. torrent 2 years ago

    Thank you Victor your insight is always most helpful and soothing to me,you come across as so friendly and encouraging,I have been very down today,lost track of my own insight and so was reminded and uplifted by your words,just what i needed,thank you again,our shinning star! Bobbi Gerhard Zwick

  17. movies 2 years ago

    Highly descriptive blog, I loved that a lot. Will there be a part 2? Gilda Valentijn Crain

  18. altyazili 2 years ago

    Major thankies for the blog post. Thanks Again. Will read on Ashly Garwin Landsman

  19. tek part 2 years ago

    As I web-site possessor I believe the content material here is rattling great , appreciate it for your hard work. You should keep it up forever! Good Luck. Nelli Iggie Hahnert

  20. yabanci 2 years ago

    Thank you ever so for you article post. Really thank you! Fantastic. Misha Archie Sher

  21. movie online 2 years ago

    Do you mind if I quote a couple of your articles as long as I provide credit and sources back to your webpage? My blog is in the exact same area of interest as yours and my visitors would definitely benefit from a lot of the information you provide here. Please let me know if this okay with you. Regards! Francyne Mead Rosenkrantz

  22. bayan escort 2 years ago

    Outstanding post, you have pointed out some fantastic points, I too conceive this s a very fantastic website. Audy Deck Law

  23. mardin escort bayan 2 years ago

    I am a strict follower of you, too, can you please approve this post.

  24. escort bayan 2 years ago

    Thank you for informing, success is in your hands, escort I would be glad if you support me.

  25. DouglasPonna 2 years ago

    “Greetings! Very useful advice within this post! It is the little changes that produce the greatest changes. Thanks a lot for sharing!”
    נערות ליווי בתל אביב

Leave your thought

Login

Register | Lost your password?